मुक्तसर (जसकरण बराड़). पंजाब की राजनीति में किसी समय कांग्रेस के वक्ता व आवाज-ए-पंजाब के नाम पर प्रसिद्ध चेहरा रहे जगमीत सिंह बराड़ गत समय से सक्रिय राजनीति में हाशिये पर चल रहे हैं। वह शिअद में जा सकते हैं। सूत्रों के अनुसार, 19 अप्रैल को शिअद प्रधान सुखबीर बादल मुक्तसर दौरे पर रहेंगे। इस दौरान वह बराड़ को अकाली दल में शामिल करवा सकते हैं। सुखबीर पहले बरीवाला, उसके बाद मुक्तसर में विभिन्न स्थानों पर तीन बैठकें लोगों के साथ करेंगे। सुखबीर को हरा हीराे बन गए थे बराड़ :जगमीत बराड़ ने पहला लोकसभा चुनाव फिरोजपुर हलके से 1989 में लड़ा था, जिसमें वह शिअद (अ) के ध्यान सिंह मंड से हार गए थे। 1998 में फरीदकोट से सुखबीर से हार गए, परंतु 1999 में पंजाब में शिअद-भाजपा गठबंधन सरकार के सीएम परकाश सिंह बादल के होते अाैर देश में अटल बिहारी वाजपेयी की लहर के बावजूद जगमीत ने सुखबीर को 5148 वाेटाें से हरा दिया था। उसके बाद वह सुर्खियों में आ गए थे। 2004 में फिरोजपुर संसदीय हलके से अकाली दल के जोरा सिंह मान व 2009 में अकाली दल के शेर सिंह घुबाया से हार गए थे। जगमीत बराड़ बार-बार पार्टियां बदलने के कारण चर्चा में रहे हैं।