गया. मगध प्रमंडलवासियों के लिए एक खुशखबरी है। प्रमंडल में चार और इंजीनियरिंग कॉलेज खोले जाएंगे। ऑल इंडिया काउंसिल फॉर टेक्निकल एजुकेशन (एआईसीटीई) दिल्ली ने औरंगाबाद, जहानाबाद, अरवल व नवादा में कॉलेज खोलने की स्वीकृति दी है। शैक्षणिक सत्र 2019-20 से तीनों कॉलेजों में पढ़ाई शुरू हो जाएगी। ये भी पढ़ेंआईआईटी पटना की रैंकिंग बढ़ी, एनआईटी भी फिर से सूची में आया नवादा को छोड़कर फिलवक्त तीनों जिलों के कॉलेज गया के विभिन्न तकनीकी संस्थानों में अस्थायी रूप से चलेंगे। गया इंजीनियरिंग कॉलेज के प्राचार्य तीनों अभियंत्रण महाविद्यालयों के प्रिंसिपल कम मेंटर होंगे। इनकी देखरेख में ही पढ़ाई होगी। राज्य सरकार ने मुख्यमंत्री सात निश्चय योजना के तहत जिलों में इंजीनियरिंग कॉलेज और पॉलिटेक्निक कॉलेज खोलने का प्रस्ताव एआईसीटीई को भेजा था। राजकीय पॉलिटेक्निक गया में संचालित होगा इंजीनियरिंग कॉलेज अरवलसंबंधित जिलों में इंफ्रास्ट्रक्चर डेवलप होने तक तीनों नए इंजीनियरिंग कॉलेज गया में संचालित होंगे। राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय औरंगाबाद का संचालन गया इंजीनियरिंग कॉलेज खिजरसराय में, राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय जहानाबाद का राजकीय पॉलिटेक्निक टिकारी में और राजकीय अभियंत्रण महाविद्यालय अरवल का संचालन राजकीय पॉलिटेक्निक गया (गया-बोधगया बाइपास रोड) में किया जाएगा। मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल व सिविल की होगी पढ़ाईऔरंगाबाद व नवादा कॉलेज में सिविल, मैकेनिकल, इलेक्ट्रिकल एंड कम्यूनिकेशन जबकि जहानाबाद व अरवल महाविद्यालय में सिविल, मैकेनिकल व इलेक्ट्रिकल की पढ़ाई होगी। आैरंगाबाद, अरवल और जहानाबाद में पॉलिटेक्निक कॉलेज खोलने की भी स्वीकृति मिली है। कॉलेजों में कुल 240 छात्र-छात्राओं का होगा एडमिशनगया इंजीनियरिंग कॉलेज के प्रिंसिपल डॉ. निर्मल कुमार ने कहा- एआईसीटीई, दिल्ली के निर्देश पर इन कॉलेजों में विभिन्न पाठ्यक्रमों में 240-240 सीटों पर नामांकन प्रवेश परीक्षा से होगा। इंजीनियरिंग कॉलेजों के लिए भूमि अधिग्रहण हो चुका है।