अविवाहित प्रेमी की शादी तय होने की भनक लगते ही विवाहित प्रेमिका रविवार को दोपहर में उसके घर आ धमकी। युवती ने प्रेमी के दरवाजे पर जमकर हंगामा किया। घंटों की मशक्कत के बाद बैठी पंचायत में तयशुदा रिश्ते को निरस्त करके प्रेमिका से ही 24 नवंबर को शादी कराने की सहमति बनी। इसके बाद महिला अपने साथ प्रेमी को लेकर चली गई। पुलिस को मामले की जानकारी नहीं दी गई है।

थाना आदमपुर की रिपोर्टिंग पुलिस चौकी रहरा निवासी 22 वर्षीय युवक हरियाणा के जिला पिंजोर के कस्बा बद्दी में प्राइवेट कंपनी में नौकरी करता है। वह अपने भाई के संग बद्दी में किराए के मकान में रहता है। इस दौरान पड़ोस में रहने वाली महिला से प्रेम-प्रसंग शुरू हो गया। महिला की चार साल की बेटी है। बताया जा रहा है कि महिला अपने पति को छोड़कर अपने माता-पिता के साथ रहती है। इसी बीच युवक की कहीं ओर शादी तय हो गई और 24 नवंबर को उसकी बारात जानी तय हुई।

शादी के लिए युवक कुछ दिन की छुट्टी लेकर घर आ गया। महिला को खबर लगी तो वह रविवार दोपहर दौरारा पहुंच गई और जमकर हंगामा किया। हंगामा होते देख युवक के दो चचेरे भाई महिला को बाइक पर बैठाकर जबरदस्ती रहरा बस स्टैंड पर छोड़ने ले गए तो वह रास्ते में चलती बाइक से कूद गई। उसके सिर तथा शरीर पर मामूली चोट भी लगी। वह फिर प्रेमी के घर पहुंच गई और हंगामा करने लगी।

इस दौरान तमाम लोगों की भीड़ एकत्र हो गई। आनन-फानन में बैठी पंचायत ने तय किया कि तयशुदा जगह से रिश्ता को निरस्त करके 24 नवंबर को ही दोनों की शादी कर दी जाएगी। बाद में प्रेमिका प्रेमी को साथ लेकर चली गई। रहरा चौकी प्रभारी मोहित बालियान ने इस तरह के किसी भी मामले की सूचना से इंकार किया है।