दिल्ली के प्रेम नगर थाने में शुक्रवार दोपहर पुलिस से परेशान 23 वर्षीय युवक ने खुद को आग लगा ली। आग लगाते वक्त वह फेसबुक लाइव कर रहा था। बुरी तरह से झुलसी हालत में उसे संजय गांधी अस्पताल में भर्ती कराया गया, मगर हालत नाजुक होने पर उसे सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया। उधर, मामले को गंभीरता से लेते हुए एसीपी की देखरेख में एक टीम को पूरे मामले की जांच सौंपी गई है। वहीं, घटना के बारे में मजिस्ट्रेट को भी सूचित कर दिया गया है। माना जा रहा है इस मामले में कुछ पुलिसकर्मियों पर गाज गिर सकती है।

23 वर्षीय आशु प्रेम नगर का रहने वाला है। वह प्रिंटर का काम करता है। दशहरे वाले दिन वह पिता यादराम के साथ कहीं जा रहा था। इस दौरान इलाके में ही रहने वाले अमनदीप डबास और हरदीप से आशु का कंधा टकरा गया। इससे इनमें से एक का मोबाइल गिर गया और उसकी स्क्रीन टूट गई। इसे लेकर अमनदीप और हरदीप ने आशु की पिटाई कर दी। पुलिस ने कार्रवाई नहीं की :आशु ने इस संबंध में थाने में मामला दर्ज कराया। मगर पुलिस ने आरोपियों के खिलाफ कोई कार्रवाई नहीं की।

इस बात को लेकर आशु परेशान था। इस कारण वह शुक्रवार को अपने ऊपर केरोसिन डालकर थाने में आ गया। उसने ड्यूटी ऑफिसर से संदीप नाम के पुलिसकर्मी के बारे में पूछा। उसके मामले की जांच संदीप को सौंपी गई थी। ड्यूटी ऑफिसर ने बताया कि वह थाने में नहीं है। इसके बाद आशु ने फेसबुक लाइव कर खुद को आग के हवाले कर दिया।पुलिसकर्मियों ने आनन-फानन में आग बुझाई और आशु को लेकर संजय गांधी अस्पताल पहुंचे। वहां से हालत नाजुक होने पर सफदरजंग अस्पताल रेफर कर दिया गया।